Sufinama

आज का विचार

Love of God transcends

Love of God transcends and is above all passion for others.

Love of God transcends

Love of God transcends and is above all passion for others.

प्रस्तुति

सूफ़ी

बिस्मिल

 

 

ता-कुजा अज़ चश्म-ए-ज़ारम ख़ून-ए-नाब आयद बेरूँ

काश अज़ पहलू दिल-ए-पुर-इज़्तिराब आयद बेरूँ

संत

मीरा

1498-1557

ब्रजभाव के पद - लाला लेता जैयो रे बीड़ी पान की

लाला लेता जैयो रे बीड़ी पान की

काव्य संचयन

सूफ़ी शब्दावली

दुहागिन (दुहागिनि)

इसके द्वारा उस समूह की ओर संकेत होता है जिनके विषय में यह कहा जा सकता है “यह सब लोग पशुओं के समान है।” कभी उन लोगों की ओर संकेत होता है, जिन्हें “खुदा उन्हें चाहता है, वे खुदा को चाहते हैं।”। कभी उस सालिक (साधक) की ओर संकेत होता है जो संभोग की मंज़िल तक नहीं पहुँचा है।

पसंदीदा विडियो

ई-पुस्तकें

शुरुआती दौर से लेकर तात्कालिक सूफ़ी साहित्य और संत-वाणी का अनूठा संग्रह

Deewan-e-Tarzi

तर्ज़ी

1901

Deewan-e-Rangeen

Tohfatus Sageer

1974

Deewan-e-Makhfi

1912

दीवान-ए-शौक़ अफ्ज़ा

1984

हम से जुड़िये

न्यूज़लेटर

* सूफ़ीनामा आपके ई-मेल का प्रयोग नियमित अपडेट के अलावा किसी और उद्देश्य के लिए नहीं करेगा