Sufinama

आज का विचार

All people on the planet are children

All people on the planet are children, except for a very few. No one is grown up except those free

All people on the planet are children

All people on the planet are children, except for a very few. No one is grown up except those free

प्रस्तुति

सूफ़ी

ज़हीन शाह ताजी

1902-1978

दो-जहाँ जल्वा-ए-जानाँ के सिवा कुछ भी नहीं

हम ने कुछ और देखा तो ख़ता कुछ भी नहीं''

संत

एकनाथ

1548-1599

आदि पुरूष निर्गुण निराधार की याद कर

मेरे गुरु परवरदिगार की याद कर

काव्य संचयन

सूफ़ी शब्दावली

बाँद

शब्दार्थ

(अंतर, फ़ासिला) ׃ईश्वर से फ़ासला।

(अंतर, फ़ासिला) ׃ईश्वर से फ़ासला।

सूफ़ीनामा ब्लॉग

पसंदीदा विडियो

ई-पुस्तकें

शुरुआती दौर से लेकर तात्कालिक सूफ़ी साहित्य और संत-वाणी का अनूठा संग्रह

Novel Sufia

1942

Shumara Number-002

1934

साक़ी, दिल्ली

Nazr-e-Khusrau

अमीर ख़ुसरौ

1989

Hikayat-e-Luqman

1991

Amir Khusro Number : April-May : Shumara Number-011,012

1976

फ़रोग़-ए-उर्दू

हम से जुड़िये

न्यूज़लेटर

* सूफ़ीनामा आपके ई-मेल का प्रयोग नियमित अपडेट के अलावा किसी और उद्देश्य के लिए नहीं करेगा