Sufinama
Raheem's Photo'

रहीम

1553 - 1626

पद 2

 

दोहा 140

मुक्ता कर करपूर कर चातक जीवन जोय

एतो बड़े 'रहीम' जल ब्याल बदन विष होय

  • शेयर कीजिए

ये 'रहीम' मानै नहीं दिल से नवा जो होय

चीता चोर कमान के नये ते अवगुन होय

  • शेयर कीजिए

'रहिमन' अती कीजिये गहि रहिए निज कानि

सैंजन अति फूले तऊ डार पात की हानि

  • शेयर कीजिए

छंद 1

 

सोरठा 7

बरवै 1

 

Added to your favorites

Removed from your favorites